आयकर विभाग के अधिकारियों को जगाने में अजय देवगन की फिल्म “रेड” महत्वपूर्ण.

 आयकर छापामारी पर केंद्रित अभिनेता अजय देवगन की फिल्म ‘रेड’ देखने के बाद आयकर अफसर बोले कि फिल्म सच्चाई के नजदीक है, लेकिन ऐसा कभी नहीं होता कि देश का प्रधानमंत्री सीधे अफसर को फोन करे। कहानी को रोचक बनाने की गरज से मसाला डाला गया है। भोपाल में विभाग के मुखिया प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त पीके दाश सहित करीब 50 अफसरों ने परिवार के साथ फिल्म देखी।

आयकर विभाग के अफसरों का कहना है कि उनकी संस्था आईआरएस एसोसिएशन की तरफ से फिल्म देखने की अपील जारी की गई है। यही वजह है कि हर शहर में फिल्म वितरक द्वारा प्रमोशनल स्कीम के तहत आयकर अफसरों को यह फिल्म दिखाई जा रही है। रविवार को शहर के एक थियेटर में 20 आईआरएस, 15 आईटीओ, 15 इंस्पेक्टर व अन्य स्टाफ परिवार सहित फिल्म देखने पहुंचे थे।

हकीकत में ऐसा नहीं होता

विभाग के एक डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि फिल्म में डिप्टी कमिश्नर बने अजय देवगन ने ईमानदार अफसर की भूमिका निभाई है। तकनीकी रूप से विभाग की सभी प्रक्रियाओं का ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा कि लेकिन यह बात गले नहीं उतरतीं कि देश का प्रधानमंत्री सीधे आयकर अधिकारी को फोन करके कार्रवाई में दखल दे।

सच्ची घटना पर फिल्म

मप्र-छग के प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त के अनुसार  गजब की फिल्म बनी है, फिल्म की कहानी सच्ची घटना और छापामारी पर केंद्रित है। फिल्म देखकर अपने साथ घटी कुछ घटनाएं भी जीवंत हो उठीं। जब मैं डिप्टी कमिश्नर/डायरेक्टर था, तब छापामारी के बाद बदमाशों से पत्नी बच्चों को खतरा पैदा हो गया था। एक बार तो छापामारी के दौरान मुझे अपने परिवार को एक रिश्तेदार के घर भेजना पड़ा था। झारसुगड़ा माइनिंग इलाके में एक मर्तबा हमारी टीम को तीन हजार लोगों ने घेर लिया था।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email