एस टी के कंडक्टर वसूल रहे हैं जनता से जी एस टी। 

रोज़ाना होती हैं हजारों रुपयों की अवैध वसूली

(कर्ण हिंदुस्तानी )

जहां एक ओर  महाराष्ट्र राज्य परिवहन महामंडल आम जनता को सस्ते दामों पर यात्रा की सुविधा देने की बात कर रही है , वहीँ परिवहन मंडल के कंडक्टर यात्रियों से अवैध वसूली कर अपनी जेबें भरने में लगे हुए हैं। हर यात्री से एक रुपया अधिक वसूलना इन कंडक्टरों की रोज़ की आदत है।  जनता इस वसूली को एस टी का जी एस टी बता रही है। 
गौर तलब हो कि महाराष्ट्र  राज्य परिवहन महामंडल की कल्याण शाखा के कंडक्टर इन दिनों जनता से प्रति टिकिट एक रुपया ज्यादा वसूल रहे हैं। कल्याण से भिवंडी का किराया १४ रुपया है मगर कंडक्टर यात्रियों से १५ रुपया वसूलते है और टिकिट १४ रुपयों की ही देतें हैं , इसी तरह कल्याण से पनवेल का किराया ३९ रूपये है मगर यात्रियों से ४० रुपया वसूला जाता है और टिकिट ३९ रूपये  की ही दी जाती है।   छुट्टे ना होने का बहाना बनाकर यह वसूली की जाती है। रोजाना हज़ारों रुपयों की इस अवैध वसूली में महामंडल के वरिष्ठ अधिकारियों का भी हिस्सा होने की बात एक कंडक्टर ने नाम प्रकाशित ना करने की शर्त पर बताई। इस कंडक्टर का कहना था कि दोनों रुट पर बिना कंडक्टर चलने वाली बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों से कल्याण में ही टिकिट की रकम लेकर उन्हें टिकिट दी जाती है , इस टिकिट वितरण में प्रति यात्री एक रुपया अधिक वसूला जाता है , जो भी रकम शाम तक एकत्र होती है उसका बंटवारा शाम को अधिकारियों और कंडक्टरों में सामान्य रूप से किया जाता है। सूत्रों पर यदि यकीन करें तो इन दोनों रुट पर हर रोज़ तकरीबन तीन हज़ार से पांच हज़ार यात्री यात्रा करते हैं और हर यात्री से एक रुपया अधिक वसूला जाता है। इस वसूली के विरोध में जो भी यात्री आवाज़ उठाता है उसे कंडक्टर बड़ी बेइज़्ज़ती करके एक रुपया लौटाता है , बाकी वसूली फिर भी जारी रहती है। 
Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email