धूम स्टाइल में लुट की बढ़ी वारदातों पर गंभीर नहीं कल्याण डोम्बिवली पुलिस,ताबड़तोड़ वारदात.

 

( श्रीराम कांदु )

कल शनिवार को कल्याण डोम्बिवली के विभिन्न पुलिस थानों में महिला और पुरुषो से चैन छिनने के पाच घटनाएं दर्ज की गयी है.परिसर में लगातार बढ़ रही इस तरह की छिनैती की घटनाओ पर स्थानीय पुलिस भी सतर्क होने का दावा कर रही है वहि अपराधी भी तू डाल डाल, तो मै पात पात. के तर्ज पर अपराधो को लगातार अंजाम देरहे है, सरेआम अंजाम दे रहे है,और पुलिस कुछ भी नहीं कर पा रही है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार दो तीन पूर्व तक ये अपराधी ज्यादातर दोपहर को सुनसान जगहों पर अकेली माहिला को लुटते थे लेकिन शनिवार को उन्होंने सतर्क पुलिस का ध्यान रखा.और पहली वारदात सुबह पांच बजे डोम्बिवली पूर्व के चर्चित फडके रोड पर महिला रत्नप्रभा आभोनकर के गले से २० हजार का चैन चिनकर दिया.मोटर सायकल पर सवार दो युवको ने धूम स्टाइल में आकर महिला को धक्का देकर उनके गले से चैन छिनकर फरार हो गए.इसके ठीक आधे घंटे बाद कल्याण पूर्व के तिसगाव के चिकणपाडा के गजानन अपार्टमेंट निवासी उमेश कदम सुबह साढे पाच बजे के आसपास मोर्निंग वाक् को निकले थे.कल्याण मनपा के  काटेमानवली ड प्रभाग कार्यलय के सामने अचानक दो मोटर सायकल सवार आये, उनमे से पीछे वैठे युवक ने कदम के गर्दन पर जोर से थप्पड़ मारा और उनके गले से २० हजार कीमत के सोने की चैन लेकर फरार होने लगे, इसी दोरान उनके पीछे ही वैशाली नामक महिला के गले पर थप्पड़ मार कर ये युवको ने उनके गले से मंगलसूत्र छिनकर फरार होगये.

चौथी घटना डोंबिवली पूर्व के ही मनपा उधान के गुरुदेव हॉटेल के पास के वसंत विहार सोसायटी निवासी  महिला दोपहर १२ बजे पैदल अपने घर की तरफ जा रही थी इतने में पीछे से आये मोटर सायकल सवार ने उनके गले से २२ हजार कीमत की मंगल सूत्र छिनकर फरार हो गए.

और अंत में शाम ७ बजे यहाँ के सुनिल नगर केअंबर सोसायटी निवासी कृष्णा सोमर्ड मालवीय क्रॉस रोड पर से जा रहे थे.इतने में पीछे से आये दो मोटर सायकल सवार युवको ने पहले उन्हें जोड़ से धक्का दिया फिर उनके गले से चैन के साथ कुल ३१ हजार 400 लूटकर चले गए.

इन घटनाओं के मद्देनजर पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है ऐसा नही कहा जा सकता, लेकिन पुलिसिया करवाई भी महज खानापूर्ति ही मानी जा रही है.क्योकि डोम्बिवली में रविवार को अनेक जगहों पर नाकाबंदी लगी थी. और आज कही से छिनैती की घटनाएं  भी नही हुई. लेकिन अगर पुलिस इस मामले में गंभीरता दिखाती तो अभी तक अपराधी पकड लिए गए होते.लेकिन पहले तो पुलिस अपने पास इस तरह की शिकायत लेकर आने वाले लोगो की शिकायत नही लेती है. अगर दवाव में आकर लिया भी गया तो महज खाना पूर्ति ही होती है.

अभी पिछले दिनों ही मानपाडा पुलिस हद के दावडी रोड पर महिला सोनी यादव के साथ लूटपाट हुई थी.पहले तो पुलिस थाणे में शिकायत नही ली जारही थी. पुलिस आयुक्त कार्यालय में शिकायत दर्ज करने पर शिकायत तो ली गई लेकिन महज खानापूर्ति भर, महिला सोनी यादव ने दावडी रोड पर लगे अनेक सिसीटीवी लगे होने की बात कही थी जिसमे अपराधियों को पहचाने जाने की पूरी संभावना थी लेकिन पुलिस ने अज्ञात कारणों से इन बातो को नजरंदाज किया.

अगर सच में पुलिस इन अपराधियों को द्वोचना चाहती है. तो भुक्तभोगी लुटे हुए लोगो से मिलकर इन अपराधियों का स्कैच बनवाये,फिर वारदात की जगह के आसपास के सिसीटीवी फुटेज भी जांच के लिए फायदेमंद हो सकती है. फिर जिस मोटरसायकल से वारदात हो रही है.उसके नम्बर,रंग,कपनी के नाम जैसी मोटर सायकल पर नजर रखी जाए तो जल्द ही अपराधी पकडे जा सकते है. लेकिन पुलिस को “अपने” कामो से फुर्सत कहा. ऐसे में हिंदी फिल्म “इंडियन” में पुलिस अधिकारी बने सन्नी देयोल का वो डायलोग का जिक्र करना आवश्यक है अगर पुलिस नही चाहे तो किसी मंदिर से चप्पल भी चोरी नही हो सकती है

 

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email