नीरव माेदी और उसके परिजनों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी,

पंजाब नेशनल बैंक के साथ 13,500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ मुंबई की एक स्पेशल कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है। अदालत ने यह वारंट प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की चार्जशीट पर संज्ञान लेते हुए मंगलवार को जारी किया। ईडी ने चार्जशीट पिछले महीने दाखिल की थी। पिछले हफ्ते एजेंसी ने आरोपियों के खिलाफ वारंट जारी कराने के लिए अदालत में अर्जी दी थी। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत बनी विशेष कोर्ट के जज सलमान अजमी ने नीरव मोदी और उसके परिवार के सदस्यों समेत 10 अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए।
ब्रिटेन सरकार ने पुष्टि की है कि नीरव उनके देश में हैं
केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने सोमवार को बताया कि ब्रिटेन सरकार ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि विजय माल्या, नीरव और ललित मोदी के प्रत्यर्पण कार्रवाई में भारत सरकार की पूरी तरह से मदद की जाएगी।

मंत्रालय के अफसर ने बताया, ब्रिटेन सरकार ने पुष्टि की है कि नीरव उनके देश में है।

ब्रिटेन की मंत्री बेरोनेस विलियम्स ने कहा, मैं कोर्ट में चल रहे किसी भी केस के बारे में टिप्पणी नहीं करूंगी, उचित नियमों के आधार पर कार्रवाई चल रही है। मैंने भारत के मंत्री किरण रिजिजू से बात की है और उन्हें आश्वासन दिया है।
नीरव मोदी ब्रिटेन में राजनीतिक शरण पाना चाहता है- रिपोर्ट
एक मीडिया रिपोर्ट में भारतीय और ब्रिटिश अफसरों के हवाले से ये दावा किया गया है।
फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के हवाले से रॉयटर्स ने बताया कि नीरव मोदी लंदन में है और वह शरण चाहता है। इसकी वजह वह राजनीतिक रूप से खुद को सताया जाना बता रहा है।
हालांकि, ब्रिटेन स्थित भारतीय उच्चायुक्त ने किसी भी मामले में कोई जानकारी नहीं दी है। रिपोर्ट की मानें तो इस मामले में नीरव मोदी ने भी बयान जारी कर कोई जानकारी नहीं दी।
भारतीय विदेश मंत्रालय ने फाइनेंशियल टाइम्स को बताया कि भारत सरकार खुद उसका इंतजार कर रही है। देश की लॉ एन्फोर्समेंट एजेंसियां उसका प्रत्यर्पण कराने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन यह हो नहीं पाया।
सीबीआई 25 लोगों के खिलाफ दायर कर चुकी है आरोप पत्र
सीबीआई मई में 25 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर चुकी है। इसमें नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, पीएनबी की पूर्व प्रमुख उषा अनंत सुब्रह्मणियन, पीएनबी के दो डायरेक्टर और नीरव की तीन कंपनियां शामिल हैं।
उधर, नीरव और चौकसी लगातार इस बात से इनकार कर रहे हैं कि उन्होंने कुछ भी गलत किया है।
बता दें कि भारत सरकार लंदन में रह रहे विजय माल्या का भी प्रत्यर्पण चाहती है। वो पिछले साल मार्च में लंदन भाग गया। उस पर भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज है।
अब तक नीरव-मेहुल के ठिकानों पर 251 छापे
प्रत्यर्पण निदेशालय (ईडी) देश भर में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के ठिकानों पर 251 छापे मार चुका है। इसमें करीब 7,638 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी अटैच की गई।
Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email