नेवी चिल्ड्रन स्कूल, दिल्ली ने वार्षिक दिवस मनाया

नेवी चिल्ड्रन स्कूल, दिल्ली ने 29 अक्टूबर, 2018 को वार्षिक दिवस 2018 मनाया। इस अवसर पर नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लाम्बा (पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी), श्रीमती रीना लाम्बा और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे। वार्षिक दिवस की थीम थी ‘उम्मीद एवं आकांक्षा’।

इस आयोजन के दौरान युवाओं के अवचेतन में उम्मीदें और आकांक्षाएं जगाने की जरूरत पर प्रकाश डाला गया, ताकि समानता, समभाव और सद्भाव पर आधारित समाज का सृजन किया जा सके। इस दौरान संगीत, नाटक और नृत्य का संगम प्रस्तुत किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ ‘मंगलाचरण’ के साथ हुआ, जो ‘राग यमन’ में एक भावपूर्ण चित्रण था। शिक्षा, स्वच्छता और एकता के आदर्श वाक्यों के ऊर्जावान चित्रण के साथ पेश किए गए ‘सबका साथ सबका विकास’ शीर्षक वाले नुक्कड़ नाटक ने उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। आइंस्टीन पर पेश की गई नृत्य नाटिका इस अवसर पर उपस्थित दर्शकों को प्रकाश की जादुई दुनिया में ले गई। उधर, विश्व भर में फसल कटाई के दौरान होने वाले पारंपरिक नृत्यों को भी इस दौरान पेश किया गया, जिससे दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। फ्रांस और स्पेन के गीतों पर विद्यार्थियों द्वारा दी गई प्रस्तुति ने दुनिया को एकजुट करने में संगीत की अद्भुत ताकत को दर्शाया। इसी तरह ‘खेलो इंडिया ब्रिगेड’ ने फिटनेस का संदेश दिया।

स्कूल की प्रधानाध्यापिका श्रीमती ओशिमा माथुर और हेड ब्वॉय एवं हेड गर्ल ने स्कूल की रिपोर्ट पेश की, जिसमें पिछले शैक्षणिक वर्ष के दौरान शिक्षा एवं खेल-कूद के क्षेत्रों के साथ-साथ पाठ्येतर गतिविधियों में भी स्कूल के विद्यार्थियों की उपलब्धियों को दर्शाया गया। कार्यक्रम का समापन रविन्द्र नाथ टैगोर के ‘व्हेयर द माइंड इज विदाउट फियर’ की प्रभावशाली द्विभाषी प्रस्तुति के साथ हुआ। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ने उम्मीदों और आकांक्षाओं के जरिए ‘एक विश्व’ के विजन का प्रचार-प्रसार करने हेतु अपने विद्यार्थियों को प्रेरित करने के लिए इस स्कूल के प्रयासों की भूरि-भूरि प्रशंसा की। इसके अलावा उन्होंने विद्यार्थियों से अपनी क्षमताओं एवं दक्षताओं का अधिकतम उपयोग करने के लिए अध्ययन एवं खेल-कूद के साथ-साथ समस्त गतिविधियों में दिल लगाकर भाग लेने का अनुरोध किया। मुख्य अतिथि ने स्कूल के विकास के लिए उपहार स्वरूप 5 लाख रुपये दिए। स्कूल की पत्रिका का विमोचन इस भव्य कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण था।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email