रजत जयंती वर्ष मना रहा है कल्याण चक्किनाका का आदर्श रामलीला मंडल,

 

कल्याण पूर्व के चक्कीनाका के गुणगोपाल मंदिर परिसर में विगत २५ वर्षो से सफलतापूर्वक रामलीला का मंचन स्थानीय लोगो द्वारा किया जा रहा है.बिहार उत्तर प्रदेश के अपने गावो में रामलीला देखे,इसके महत्व को समझने वाले लोगो का समूह जुडा,चर्चा हुई और आज से ठीक २५ वर्ष पहले दशहरा के दोरान चक्किनाका परिसर में रामलीला मंचन की योजना बन गयी,अब समस्या एक मैदान की थी,इस समूह को पास के ही गुण गोपाल मंदिर परिसर का मैदान दिखा. और इस हेतु इन लोगो ने मंदिर के जमीन के तत्कालीन मुख्य मालिक अनंत गोपाल गवली से मिले, धार्मिक काम था, उनके क्षेत्र के युवाओं का प्रयास था अनंत गोपाल गवली ने इन्हें हर स्तर से समर्थन करने का वचन दिया और वर्ष १९९३ में आदर्श रामलीला मंडल की स्थापना हुई थी.

इस वर्ष मंडल के २५ वर्ष पुरे हो रहे है.और आज भी गवली परिवार का इस रामलीला मंडल को वैसा ही सहयोग जारी है अनंत गवली का स्वर्गवास हो गया है अब उनके पुत्र नविन गवली के देखरेख में रामलीला आयोजित होता है वे यहाँ से शिवसेना नगरसेवक भी है. मंडल कार्यकारणी में अध्यक्ष ज्ञानेश्वर (नानू) सिंह,महासचिव हरिश्चंद्र त्रिपाठी,कोषाध्यक्ष अजय तिवारी के साथ पी सी पाण्डेय,रुद्रमणि त्रिपाठी गुणगोपाल मंदिर के पुजारी पंडित प्रभाकर तिवारी के साथ सैकड़ो लोग इस मंडल से तन, मन,धन से शुरुवात से जुड़े है.मंडल के प्रवक्ता जितेन्द्र शंकर पाण्डे सर के अनुसार इस मंडल के सभी पदाधिकारी एवम सहयोगी नोकरिपेशा है और भगवान् राम और रामायण के परम प्रेमी,दशहरा आने के महीनो पहले ही ये लोग अपनी तैयारी में जुट जाते है. भारत के सभ्यता संस्कृती को सहेजने के मंडल के सदस्यों के प्रयासों में, इनलोगों ने युवाओं का भी साथ लेना शुरूकर दिया है.ताकि इस आयोजन में निरंतरता बनी रहे रहे .२१ से ३० सितम्बर तक आयोजित इस रामलीला में कल्याण डोम्बिवली के गणमान्य के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु रामभक्त भी यहाँ जुटते है.

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email