हेराल्ड मामले में स्वामी ने दिए 413 करोड़ जुर्माने के सुबूत, अदालत का दस्तावेज को सील करने का निर्देश

सुब्रमण्यम स्वामी ने एक अदालत को बताया कि आईटी ने नेशनल हेराल्ड मामले में यंग इंडियन पर 413 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है।
नेशनल हेराल्ड मामले में स्वामी ने कांग्रेस नेता सोनिया गांधी , पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य पर मुकदमा दायर किया था। स्वामी ने मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अंबिका सिंह के समक्ष कहा कि आयकर विभाग ने मामले में उनकी शिकायत का संज्ञान लेने के बाद गांधी परिवार, यंग इंडियन कंपनी और चार अन्य आरोपियों के खिलाफ जांच शुरू की थी। अब उन्होंने अदालत के समक्ष नया दस्तावेज पेश करते हुए कहा कि सूचना नहीं देने के लिए यंग इंडिया पर 414 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है।
दस्तावेजों को सील करने का आदेश
भाजपा नेता स्वामी द्वारा मुहैया कराए गए दस्तावेज व जानकारी के आधार पर दिल्ली की अदालत ने निर्देश दिया है कि अदालत में पेश आयकर विभाग के दस्तावेजों को अगले आदेशों तक सील कवर में रखा जाए। साथ ही स्वामी द्वारा मुहैया कराए गए दस्तावेजों के लिए सूचीबद्ध किया गया हैा भाजपा नेता दस्तावेज को रिकॉर्ड पर रखना चहते थे जिस पर बचाव पक्ष्ा के वकील ने आपति जताई। स्वामी ने निजी आपराधिक मामलें आरोप लगाया है कि महज 50 लाख रुपए का भुगतान कर गांधी परिवार के अहम सदस्यों ने ठगी और घपलेबाजी का षड्यंत्र किया है। इसके माध्यम से यंग इंडिया ने 90 करोड़ 25 लाख रुपए वसूलने के अधिकार हासिल किए जो एसोसिएट जर्नल्स लिमिटेड को कांग्रेस को देना था।
लिफाफे में मिला दस्तावेज
स्वामी ने अदालत को बताया कि मैं आठ अखबारों को नियमित रूप से खरीदता हूं। 27 दिसंबर, 2017 को एक लिफाफे में आईटी मूल्यांकन दस्तावेज मिले, जहां उन्होंने लेनदेन को रोकने के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी अन्यों पर 413 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया हैाp

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email