केरल में बरसी ‘आसमानी’ आफत, 20 लोगों की मौत और हाई अलर्ट जारी

केरल में गुरुवार को झमाझम बारिश का दौर जारी है, जिससे न केवल निचले इलाकों में पानी भर गया बल्कि आमजन भी प्रभावित होने लगा है। सूबे के अलग-अलग इलाकों में बारिश और भूस्खलन के चलते 20 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, भारी बारिश की वजह से इडुक्की बांध में लगाताक जलस्तर बढ़ रहा है, जिसके बाद उसे खोल दिया गया है। बता दें, 26 साल बाद बांध को खोला गया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि बारिश किस रूप में हो रही है।

भारी बारिश के बाद केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा है कि हमने सेना, नेवी, कोस्ट गार्ड और एनडीआरएफ मदद मांगी है, जिसके बाद एनडीआरएफ की 3 टीमें पहुंच गई हैं, 2 टीमें जल्दी ही पहुंच जाएगी और एनडीआरएफ की 6 अतिरिक्त टीमें संपर्क में हैं। वहीं, नेहरु ट्रॉफी बोट रेस को फिलहाल निरस्त कर दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसाप, केरल के अलग-अलग हिस्सों में गुरुवार तड़के भारी बारिश और भूस्खलन की घटना में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई।

इडुक्की में भूस्खलन में 10 लोगों, मलप्पुरम में पांच, कन्नूर में दो और वायनाड जिले में एक व्यक्ति की मौत हो गई। वायनाड, पलक्कड ओर कोझिकोड जिलों में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। इडुक्की के अडीमाली शहर में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। पुलिस और स्थानीय लोगों ने मलबे से दो लोगों को जिंदा बाहर निकाला।

इदामालयर बांध से गुरुवार सुबह करीब 600 क्यूसेक पानी छोड़ा गया जिससे जल स्तर 169.95 मीटर पर पहुंच गया। इडुक्की बांध में गुरुवार सुबह आठ बजे तक जल स्तर 2,398 फीट था जो जलाशय के पूर्ण स्तर के मुकाबले 50 फीट अधिक था। प्रशासन को हाई अलर्ट पर रखा गया है। कोझिकोड और वायनाड जिलों में भारी बारिश और बाढ़ के कारण राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) का एक दल कोझिकोड पहुंच गया है। केंद्र से उत्तर केरल के लिए दो टीमें भेजने के लिए कहा गया है। बारिश के कारण इडुक्की, कोल्लम और कुछ अन्य जिलों में शैक्षिक संस्थानों में आज छुट्टी घोषित की गई है।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email