रीजेंसी की जेब में है एमएसआरडीसी, एमएसइडीसी,केडीएमसी, और एमआयडीसी के अधिकारी

कल्याण शील रोड पर सुयोग होटल के पास रेजेंसी बिल्डर ने सभी नियमों को ताक  में रखकर गंदे पानी की निकासी के लिए मनमाने ढंग से नाला खोदा है।  इस नाला के खोदकाम में सभी सरकारी विभागों के हाथ कथित भ्रष्टाचार में लिप्त नज़र आने लगे हैं। नाला के खोदकाम में भी अनियमितता बरती गई है।
गौरतलब हो कि कल्याणशील रोड पर सुयोग होटल के पास रेजेंसी अनंतम् नमक रहिवासी संकुल बनाने का प्रकल्प शुरू किया हुआ है। इस प्रकल्प के लिए गंदा पानी निकालने के लिए कल्याणशील रोड (महामार्ग ) पर नाला खोदने का कार्य शुरू है। इस नाला को बनाने के लिए राज्य रस्ते विकास महामंडल अथवा यातायात की कोई इज़ाज़त नहीं ली गई।

इतना ही नहीं इस नाला को बनाते समय शुक्रवार की शाम को बिजली की अति तीव्र प्रवाह वाली बिजली की तारों से लैस खम्बा भी टेढ़ा हो गया। जिसके चलते बिजली की आपूर्ति पांच घंटे तक बाधित रही। इतना ही नहीं अति तीव्र प्रवाह वाली बिजली की तारों से लैस खम्बे के झुकने से कल्याण शील रोड पर यातायात भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ।  नाला की खोदकाम के लिए रीजेंसी ग्रुप ने मनमानी करते हुए ज़मीन में स्थित पानी की सीधी पाइप लाइन को काटकर यू आकार दे दिया है।

बिजली के खम्बे के बारे में  विभाग के अतिरिक्त कार्यकारी अभियंता गवली का कहना कि मानपाडा पुलिस ने गिरे हुए खम्बे का पंचनामा किया है और हम रेजेंसी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।  जबकि मानपाडा पुलिस का कहना है कि उन्होंने कोई भी पंचनामा नहीं किया है। इस तरह से स्पष्ट हो गया है कि महाराष्ट्र औद्योगिक विकास महामंडल , राज्य रस्ते विकास महामंडल , यातायात विभाग , महावितरण और कल्याण डोम्बिवली मनपा सभी रेजेंसी की जेब में  हैं।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email