ग्रह नक्षत्र ६ मार्च तक हिन्दुस्तान को पाकिस्तान से सतर्क रहने के संकेत दे रहे है.

पाक के कब्ज़े वाले काश्मीर में भारतीय वायुसेना ने आतंकी ठिकानों पर हमला किया और इस हमले में जैश के कई आतंकियों की मौत हो गयी । किन्तु  अब भारत को अति  सावधानी की जरूरत है। यह  दावा प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित प्रमोद गौतम का है आतंकी हमले का विश्लेषण करते हुए पंडित प्रमोद गौतम ने कहा कि हिन्दुस्तान ने  पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला तो ले लिया लेकिन भारत को 6 मार्च तक विशेष सतर्कता की ज़रूरत है, क्योंकि पाकिस्तान इस हमले का करारा जवाब दे सकता है।

4 नवंबर 2019 तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पर सद्बुद्धि का कारक ग्रह देवगुरु बृहस्पति ग्रह का आशीर्वाद नहीं है। इसलिए पाकिस्तान भारत के इस 26 फरवरी के आक्रमण के बाद कोई ऐसी ओछी  हरकत कर सकता है, जिस बारे में हिन्दुस्तान सोच भी नहीं सकता .

मार्च से असुरों के सेनापति चाण्डाल ग्रह राहु स्वतन्त्र पाकिस्तान देश की चन्द्र राशि मिथुन पर अपनी उच्च अवस्था में विराजमान हो रहे हैं, जो पाकिस्तान को छल के माध्यम से भारत पर बदले की कार्रवाई करने के लिए प्रेरित करेगा । क्योंकि राहु मिथुन राशि पर शक्तिशाली अवस्था में होता है, इसलिए उसकी रणनीति बड़ी पेचीदा और छुप कर छल से अचानक आक्रमणकारी होगी। इसलिए भारत को विशेषकर 6 मार्च तक विशेष सतर्क रहने की नितांत  ज़रूरत  है।

प्रमोद गौतम ने पुलवामा में हुई आतंकी हमले का ज्योतिषीय विश्लेषण करते हुए कहा कि इस नव वर्ष 2019 का आगमन 1 जनवरी को राहु के नक्षत्र से आरम्भ हुआ है। जिससे  ज्योतिष में छाया ग्रह राहु को महापापी और छुप कर एवं छलकपट से आक्रमण करने वाला कहा जाता है साथ में छाया ग्रह राहु को असुरों का सेनापति भी कहा जाता है। पुलवामा की आतंकी हमले की घटना भी एक तरह से छलपूर्ण आक्रमण ही है।

वर्तमान में हिन्दुस्तान  की चन्द्र राशि कर्क पर 6 मार्च तक गोचरीय ग्रह चाल में राहु विराजमान है, जो कि 7 मार्च से अपना राशि परिवर्तन करेगा। वर्तमान में स्थित कर्क राशि से वक्री अवस्था में मिथुन राशि में स्थित हो जाएगा 7 मार्च 2019 से आने वाले डेढ़ वर्ष तक, जो भारत को वर्तमान की विपरीत परिस्थितियों से बाहर निकलने में मदगार साबित होगा। राहु वैदिक प्राचीन पौराणिक समुद्र मंथन काल से ही राहु की महाशत्रुता है चन्द्रमा से, क्योंकि स्वतन्त्र भारत की चन्द्र लग्न की राशि कर्क है, इसलिए भारत को इस समय वर्तमान में 6 मार्च तक विशेष सयंम और धैर्य की ज़रूरत है।

वर्तमान की विपरीत परिस्थितियों के दौरान क्योंकि अगर हिन्दुस्तान ने इस समय पाकिस्तान के साथ युद्ध का कोई निर्णय ले लिया तो वह हिन्दुस्तान  के लिए हानिकारक  साबित हो सकता है। क्योंकि इस समय वर्तमान में 14 अगस्त 1947 की स्वतन्त्र पाकिस्तान देश की मिथुन राशि की चन्द्र लग्न की कुंडली पर 11 अक्टूबर 2018 से 4 नवम्बर 2019 तक सकारात्मक निर्णय लेने का कारक ग्रह देवगुरु बृहस्पति ग्रह का आशीर्वाद नहीं है।

इसलिए पाकिस्तान हिन्दुस्तान के 26 फरवरी 2019 को पाकिस्तान की सीमा में आतंकी ठिकानों को नष्ट करने के बाद पाकिस्तान प्रतिक्रियास्वरूप जल्दवाजी में कोई खतरनाक निर्णय ले सकता है। अगर वर्तमान में युद्ध जैसे हालात पैदा होते हैं हिन्दुस्तान के साथ अर्थात अगर हिन्दुस्तान और पाकिस्तान में वर्तमान में युद्ध की स्थिति पैदा हुई तो वह परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने से भी नही चुकेगा क्योंकि पाकिस्तान देश और पाकिस्तान के वर्तमान प्रधानमंत्री इमरान खान की मेष राशि की चन्द्र कुन्डली पर 11 अक्टूबर 2018 से 4 नवम्बर 2019 तक देवगुरु बृहस्पति ग्रह का आशीर्वाद नहीं है, जो कि सद्बुद्धि का कारक ग्रह माना जाता है।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please wait...

Subscribe to our Newsletter

To get Notified of our weekly Highlighted News. Enter your email address and name below to be the first to know.
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email