शैतान से मिलने के लिए 2 लड़कियों ने रच डाली ये खौफनाक साजिश !

दो लड़कियां स्कूल के बाथरूम में 15 स्टूडेंट्स को कत्ल करने वाली थीं. इसके लिए हथियार जुटा चुकी थीं और उनके पास एक प्याला भी था ताकि वो स्टूडेंट्स को मारने के बाद उनका खून पी सकें. यही नहीं, ये दोनों इस हत्याकांड को अंजाम देने के बाद और भी खतरनाक कदम उठाना चाहती थीं. और ताज्जुब की बात तो ये है कि इन दोनों लड़कियों की उम्र 11 और 12 साल की है, जिन्हें पुलिस गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है. 11 साल की मारिया और 12 साल की एलिस स्कूल के बाथरूम में घुसी हुई थीं और फुसफुसाकर ये बातें कर रही थीं. किसी के आने की आहट सुनकर दोनों चुप हो गईं और ध्यान देने की कोशिश करने लगीं कि बाथरूम में कोई बड़ी क्लास का स्टूडेंट आया है या उनसे छोटी क्लास का. दोनों को लगा कि ये उनका शिकार नहीं था इसलिए दोनों ने फिलहाल हमला न करने और थोड़ा इंतज़ार करने का मन बनाया.

फिर जो बाथरूम में आया था, उसके जाने के बाद दोनों फुसफुसाने लगीं, तभी बाथरूम में फिर हलचल हुई और दोनों चुप हो गईं. फिर बाथरूम में एक आवाज़ गूंजी – ‘मारिया’. मारिया और एलिस ने एक दूसरे की तरफ देखा और मारिया ने सिर पकड़कर कहा – ‘शिट.. ये मॉम यहां कैसे?’ दोनों की ऐसी आवाज़ आई कि कोई बाथरूम्स के दरवाज़े खोल रहा है. अगले ही पल उनके बाथरूम का दरवाज़ा ज़ोर से खोला गया और दोनों को साथ बैठे देखकर सब चौंक गए. दोनों को पकड़कर सिक्योरिटी आॅफिस में ले जाया गया तो दोनों के पास से औज़ार बरामद हुए. अब दोनों से पूछताछ शुरू हुई तो पूरी कहानी सुनकर सबके होश उड़ गये. मारिया और एलिस चूंकि अच्छी दोस्त थीं इसलिए अक्सर वक्त साथ बिताया करती थीं. वीकेंड्स पर भी साथ रहती थीं और दोनों के पैरेंट्स को इससे कोई ऐतराज़ नहीं था. दोनों के पैरेंट्स ने दोनों को अच्छे फोन दे रखे थे और दोनों फोन के ज़रिये कॉंटैक्ट में रहने के साथ ही मनोरंजन भी किया करती थीं.

कभी स्नैपचैट के ज़रिये बातचीत करतीं तो कभी यूट्यूब पर वीडियो देखतीं. वीकेंड्स पर साथ रहकर दोनों डरावनी फिल्में देखने लगी थीं और उनके पैरेंट्स को इस बात की कोई खबर नहीं थी. कमरे में अंधेरा करके दोनों साथ में डरावनी यानी हॉरर फिल्में देखतीं और फिर उन फिल्मों के कंटेंट के बारे में बातें करतीं. ‘शैतान की पूजा’ जैसे कंसेप्ट उनके दिमाग में बस चुके थे और इन्हीं फिल्मों की तरह दोनों शैतान को पूजने लगी थीं.

ये सब अपने फोन पर सर्च करने के बाद दोनों ने खून करने का मन बनाया और उन्हें लगा कि शिकार स्कूल में ही मिल सकते हैं. मारिया और एलिस ने स्कूल के बाथरूम में जाकर अपने से छोटे बच्चों को मारने की पूरी स्कीम बनाई कि कैसे वो चाकुओं और कैंचियों से हमला कर 15 बच्चों को मारेंगी और फिर उनके टुकड़े करके उनका खून पिएंगी. दोनों ने तय किया कि ये सब करने के बाद वो दोनों भी चाकू से ही खुदकुशी कर लेंगी ताकि तुरंत शैतान के पास पहुंच सकें. दोनों ने पूरी साज़िश मिलकर बात करने के अलावा फोन पर चैटिंग के ज़रिये भी की. मारिया ने एक कागज़ पर स्कूल का एक मैप बनाया और एलिस ने कागज़ पर मैसेज लिखा कि ‘हत्या करने बाथरूम जाना है’. दोनों अपनी साज़िश रचने के बाद अपने कपड़ों में औज़ार छुपाकर स्कूल पहुंचीं और पहले पीरियड के बाद बाथरूम में जाकर छुप गईं. लेकिन तभी उनकी बातों की भनक एक स्टूडेंट को लगी तो उसने टीचिंग स्टाफ से इसकी शिकायत कर दी.

शिकायत के बाद टीचर्स ने मारिया को खोजा तो वह क्लास में नहीं थी. उसकी मां को बुलाया गया क्योंकि वह स्कूल में नहीं थी. उसकी मां ने स्कूल पहुंचकर कहा कि कोई गलतफहमी हुई है, मारिया स्कूल आई थी. इसके बाद स्कूल में तलाश शुरू हुई तो मारिया और एलिस बाथरूम में पकड़ी गईं. यह कहानी सामने आने के बाद पुलिस को खबर दी गई और पुलिस ने दोनों के घरों की तलाशी ली तो एक के घर से कुछ नहीं मिला जबकि दूसरी के घर से स्कूल का नक्शा मिला. दोनों के खिलाफ अमेरिका के फ्लोरिडा की बार्टो पुलिस आरोप तैयार कर रही है. वहीं, इस केस में बच्चियों और उनके परिवारों की वास्तविक पहचान ज़ाहिर नहीं की गई है लेकिन एक आरोपी बच्ची की मां का कहना है कि वो बच्ची है और बजाय उसकी मानसिक स्थिति को समझने के, उसे कत्ल की साज़िश का आरोपी कहा जाना ही हास्यास्पद है. इतनी छोटी दो बच्चियां 15 हत्याओं की साज़िश रच सकती हैं, यह सुनकर ही अजीब लगता है.

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Facebook
Twitter
YouTube
Follow by Email